×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 10868

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 7143

दादरी के गोहत्यारे अखलाक़ के परिजनों पर गोहत्या का मुकदमा दर्ज होगा, सिकुलरों की छाती पर लोटेंगे सांप!

15 Jul 16
Written by
Published in Daily Fix

दादरी के गोहत्यारे अखलाक़ के परिजनों पर गोहत्या का मुकदमा दर्ज होगा, सिकुलरों की छाती पर लोटेंगे सांप! भारत के नीच सिकुलरों के हीरो बने गोहत्यारे दादरी के अखलाक़ के परिवार गोहत्या का केस दर्ज करने का आदेश दिया है कोर्ट ने.



दादरी कांड में ग्रेटर नोएडा कोर्ट ने अखलाक के परिवार पर गोहत्या का केस दर्ज करने का आदेश दिया है। बता दें कि बिसाहड़ा गांव के ही एक शख्स ने शिकायत की थी कि गांव में गोहत्या हुई है और जो मांस मिला था वो फोरेंसिक जांच में साबित हो गया कि गोवंश का है। कोर्ट ने इसी मामले में सुनवाई करते हुए मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है।

कोर्ट ने परिवार के जिन लोगों के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया गया है उनमें अखलाक का भाई - जान मोहम्मद,  अखलाक  की मां  असगरी, अखलाक की पत्नी  इकरामन, अखलाक का बेटा- दानिश खान, अखलाक की बेटी –शाहिस्ता और रिश्तेदार सोनी का नाम शामिल है।

गौरतलब है कि सितंबर 2015 की इस घटना में नोएडा के दादरी में उन्मादी भीड़ ने मोहम्मद अखलाक के घर में घुसकर उसकी हत्या कर दी थी, जबकि उसके बेटे को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। भीड़ का गुस्सा इस अफवाह पर था कि मोहम्मद अखलाक के घर में गोमांस पकाया गया है।

उसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने घटना की जांच के दौरान अखलाक के घर से बरामद मीट को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा था। मथुरा की लैब से उसकी जांच रिपोर्ट आने के बाद इस बात की पुष्टि हो गई थी कि घर में पकने वाला मीट मटन होने की बजाय गोमांस ही था।

आपको बता दें कि दादरी के बिसाहड़ा गांव में 28 सितंबर 2015 की रात गोहत्या की खबर पर भीड़ ने पीट पीटकर अखलाक की हत्या कर दी थी। साथ ही उनके बेटे दानिश को पीट पीटकर अधमरा कर दिया गया था। बाद में अखलाक के परिवार पर की शिकायत पर 19 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। हालांकि पुलिस जांच में एक आरोपी को निर्दोष पाया था। मामले में कुल 18 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज है। 17 आरोपी जेल में है, जबकि एक नाबालिग को हाईकोर्ट से जमानत मिल चुकी है।  


(साभार आईबीएन)

1 comment

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.