×

Warning

JUser: :_load: Unable to load user with ID: 10868

उत्तरप्रदेश मे मुलायम सिंह की तानाशाह सरकार

14 Jul 15
Written by
Published in Politics

आईपीएस अमिताभ ठाकुर को उत्तर प्रदेश सरकार ने किया निलंबित। अमिताभ ठाकुर पिछले कुछ दिनों से इसलिए सुर्खियों में बने हुए हैं क्योंकि उन्हें कथित तौर पर मुलायम सिंह से आई एक फ़ोन कॉल का ऑडियो सार्वजनिक हुआ था।

 

2 वर्ष पहले IAS अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपाल के निलम्‍बन पर भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्‍ठ अधिकारी श्री अमिताभ ठाकुर के द्वारा लिखी गयी ये कविता वाकई झकझोर देने वाली है। यह कविता विधि की मर्यादा के प्रतिकूल किये गये निलम्‍बन पर शासन को आइना दिखाती है।

श्री अमिताभ जी इस प्रकार के अकेले भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी हैं जो निर्भीक होकर पारिवार के साथ सही को सही व गलत को गलत कहने का साहस रखते हैं। अमिताभ जी द्वारा लिखित कविता ये है...

जय दुर्गा

अरे ठीक है कि एक दिन बहाल मैं हो जाउंगी, 

दर्द मुझे मिला क्या भूल उसको पाउंगी।

नाह था क्या मेरा मुझको भी चले पता,

आगे कभी दुबारा उसको तो ना दुहराउंगी।

कहते थे सारे साथी अब न्याय तुझको करना, 

क्या झूठ  थीं वे बातें क्या मुझको था बहलाया।
इतना तो सोच रखा, इस जिंदगी में अब,
किसी और को ये दुर्गा गलत ना सताएगी।


(अमिताभ ठाकुर)

ऐसे स्वाभिमानी अधिकारी का भ्रष्ट और तानाशाही सरकार से टकराव एक दिन होना ही था।

उत्तर प्रदेश के गृह विभाग के बयान में कहा गया है कि अमिताभ ठाकुर ने 'अनुशासनहीनता और हाईकोर्ट के निर्देशों की अवहेलना की.'।

एक दिन पहले सपा नेता उज्मा सोलंकी ने आईजी नागरिक सुरक्षा अमिताभ ठाकुर के खिलाफ चकेरी थाने में तहरीर दी थी । उन्होंने आरोप लगाया था कि अमिताभ ने व्हाट्स एप पर एक फर्जी ऑडियो टेप जारी किया है जिसमें मुलायम सिंह द्वारा गैरकानूनी ढंग से धमकी दिए जाने की बात कही गई है। सपा नेत्री ने थानाध्यक्ष से अनुरोध किया था कि अमिताभ द्वारा सपा मुखिया मुलायम सिंह को बदनाम करने की साजिश रचने के आरोप में मुकदमा दर्ज करें। चकेरी थानाध्यक्ष राजीव द्विवेदी ने बताया कि तहरीर मिली है। पड़ताल की जा रही है।

उधर गोमती नगर थाने में आईजी अमिताभ ठाकुर के खिलाफ दुराचार के मामले में पुलिस ने रविवार को पीडि़त महिला का राम मनोहर लोहिया अस्पताल में मेडिकल कराया गया था। इसके बाद महिला के कुछ और बयान भी थाने में दर्ज किए गए। वहीं इस मामले की जांच सीओ गोमतीनगर को सौंप दी गई है।

अमिताभ का आरोप है कि इस कॉल में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव उन्हें धमकी दे रहे हैं।

इसके एक दिन बाद ही अमिताभ और उनकी पत्नी के ख़िलाफ़ एक एफ़आईआर दर्ज हुई जिसमें उन पर बलात्कार का आरोप लगाया गया है।

हालांकि मुलायम सिंह के बेटे और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस मुद्दे पर कहा था, "क्या नेता जी किसी को समझा नहीं सकते हैं।  नेताजी हमें भी समझाते हैं. नेताजी किसी को कुछ समझाएं, तो क्या ग़लत बात है."।

अमिताभ ने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने और ख़ुद को केंद्रीय एजेंसी की तरफ़ से सुरक्षा दिए जाने की मांग की है।

उन्होंने अपने ख़िलाफ़ दर्ज बलात्कार मामले के बारे में कहा कि ये छह महीने पुराना मामला है और वो खुद इसमें जांच की मांग करते रहे हैं।

उन्होंने कहा, "इस तरह के बलात्कार के आरोपों का उसी दिन दर्ज होना, जब मैंने मुलायम के ख़िलाफ़ आरोप लगाए, पूरे मामले को स्पष्ट तौर पर ज़ाहिर करता है."।

 

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.