जटायु का अंतिम साँसे

14 Dec 14
Written by
Published in Ancient India

 बहुत ही रोचक प्रसंग.. v

 जब जटायु का अंतिम साँसे चल रही थी तब
 एक आदमी ने उसे कहा कि जटायु तुम्हे
 मालुम था कि तुम रावण से युद्ध
 कदापि नही जीत सकते तो तुमने उसे
 ललकारा क्यों ?
 . 
 तब जटायु ने बहुत अच्छा जवाब दिया था ।
 .
 जटायु ने कहा कि मुझे मालुम था कि मैं
 रावण से युद्ध मे नही जीत सकता पर अगर
 मैंने उस वक्त रावण से युद्ध
 नही किया होता तो भारतवर्ष
 की आनेवाली पीढ़िया मुझे कायर कहती ।
 अरे एक भारतीय आर्य नारी का अपहरण
 मेरी आँखों के सामने हो रहा है और मैं
 कायरो की भांति बिल मे पडा रहूँ इससे
 तो मौत ही अच्छा है मैं अपने सर पे
 कायरता का कलंक लेके
 जीना नहीं चाहता था ईसलिऐ मैंने रावण
 से युद्ध किया ।
 .  
 .  
 ये  एक पक्षी के विचार है अगर भारतवर्ष
 के  हर लोग की ऐसी सोच होती तो आज
 भारत विश्वगुरु होता ।।  

3 comments

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.